Bollywood

मंदिर के बाहर गुलशन कुमार पर दागी गईं थी 16 गोलियां, ये थी वजह

हर म्यूजिक सीडी पर टी-सीरीज का नाम जरूर आपने देखा होगा। म्यूजिक कंपनी टी-सीरीज के स्थापना करने वाले गुलशन कुमार की आज जयंती है। शुरुआती समय में अपने पिता के साथ जूस की दुकान चलाने वाले गुलशन कुमार ने अपनी जिंदगी में खूब शोहरत हासिल की गुलशन कुमार के पिता दिल्ली के दरियागंज में जूस भेजा करते थे। जहां वह अपने पिता के साथ काम किया करते थे। इसके बाद उन्होंने अपना खुद काम करने का फैसला किया और दिल्ली में ही कैसेट की दुकान खोल ली। गुलशन ने कड़ी मेहनत से कुछ साल में ही अपने कंपनी को देश की सबसे बड़ी म्यूजिक कंपनी बना दिया।

Gulshan Kumar Murder Mystery Underworld Gangster Dawood Ibrahim ...

बता दें कि आज गुलशन कुमार हमारे बीच नहीं है। लेकिन उन्होंने अपनी काबिलियत और मेहनत से एक अलग पहचान बनाई है। 12 अगस्त 1997 को गुलशन कुमार की हत्या कर दी गई थी। इस दिन गुलशन कुमार सुबह पूजा करने मंदिर गए हुए थे। जहां उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। मुंबई के अंधेरी में मौजूद जीतेश्वर महादेव मंदिर के बाहर गुलशन कुमार पर 16 गोलियां चलाई जिसमें उनकी जान चली गई।

Gulshan Kumar death anniversary: Still the mystery of his murder ...

दरअसल गुलशन कुमार के मरने की खबर की माने तो गुलशन कुमार से अंडरवर्ल्ड फिरौती मांग रहे थे। जो उन्होंने देने से साफ मना कर दिया था। एक वेबसाइट के मुताबिक दाऊद इब्राहिम ने गुलशन कुमार से 10 करोड़ की फिरौती मांगी थी। मीडिया कर्मियों की माने तो गुलशन कुमार की हत्या में अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम और अबू सलेम का नाम लिया जाता है। एक वेबसाइट के मुताबिक अबू सलेम के कहने पर दो शार्प शूटर दाऊद मर्चेंट और विनोद जगताप ने गुलशन कुमार की हत्या की थी।

Gulshan Kumar's name still alive because of his deeds: Daughter ...

विनोद जगताप ने 9 जनवरी 2001 को कुबूल किया कि उसने गुलशन कुमार को गोली मारी। विनोद को हत्या के लिए साल 2002 में आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी। दाऊद मर्चेंट को भी इस मामले में उम्रकैद की सजा हुई थी। लेकिन दाऊद मर्चेंट 2009 में परोल पर रिहाई के दौरान फरार हो गया और बांग्लादेश भाग गया था।

loading...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top